स्तरविन्यासी व्याकरण की परिभाषा क्या है stratificational grammar in hindi definition meaning स्तरविन्यासी व्याकरण किसे कहते हैं ?

प्रश्न : स्तरविन्यासी व्याकरण को परिभाषित कीजिये ?

उत्तर : हिंदी में स्तरविन्यासी व्याकरण (stratificational grammar) की परिभाषा निम्नलिखित है –

अमेरिकी भाषावैज्ञानिक ‘सिडनी एम. लैंब‘ द्वारा प्रतिपादित भाषा-सिद्धांत जिसके अनुसार भाषा को परस्पर संबद्ध स्तरों की संरचना माना गया है । इसके अनुसार भाषा-संरचना के छह स्तर हैं – स्वनविज्ञान (1. अधःस्वनिमिक स्तर, 2. स्वनिमिक स्तर), व्याकरण (3. रूपिमिक स्तर, 4. शाब्दिमिक स्तर), शब्दार्थविज्ञान (5. अर्थिमिक स्तर, 6. अतिअर्थिमिक स्तर)
प्रत्येक स्तर की स्तर-व्यवस्था को समुच्चय के रूप में नियोजित किया गया है । प्रत्येक स्तर भाषा-संरचना के किसी न किसी पक्ष से संबंधित है । हर पक्ष/स्तर स्वतंत्र है तथा अन्योन्य स्तरों पर भाषा की किसी न किसी पक्ष से संबंधित संरचना को स्वतंत्र रूप से व्यक्त किया जाता हैय यथा – व्याकरण का स्तर (जो ‘रूप‘ तथा ‘शब्द‘ पक्षों से संबंधित है) स्वनिमिक स्तर से स्वतंत्र है तथा शब्दार्थ का स्तर व्याकरण के स्तर से स्वतंत्र है । इसमें दो प्रकार की अभिरचानाएँ (चंजजमतदे) मानी गई हैं – पदिम विश्लेषण (जंबजपब ंदंसलेपे) तथा प्रतिफलन-विश्लेषण (तमंसपेंजपवदंस ंदंसलेपे) ।

question : what is stratificational grammar in hindi define the term ?

answer : stratificational grammar की हिंदी में डेफिनिशन अर्थात स्तरविन्यासी व्याकरण की परिभाषा ऊपर देखिये –