प्रजनक (प्रजनन) की परिभाषा क्या है generative ¼generate] generation½ in hindi definition meaning प्रजनक (प्रजनन) किसे कहते हैं ?

प्रश्न : प्रजनक (प्रजनन) को परिभाषित कीजिये ?

उत्तर : हिंदी में प्रजनक (प्रजनन) (generative ¼generate] generation½) की परिभाषा निम्नलिखित है –

चॉम्सकी द्वारा ैलदजंबजपब ैजतनबजनतमे (1957) में पदबंध संरचना व्याकरण के परिप्रेक्ष्य में प्रस्तुत एक संकल्पना, जिसे गणित से उद्धृत किया गया है। यह संकल्पना भाषा के सभी सुगठित वाक्यों को परिभाषित करने के व्याकरण के सामर्थ्य को प्रकट करती है। इस संकल्पना पर आधारित प्रजनक व्याकरण रूपनिष्ठ नियमों का समूह है जो सुव्यक्त रूप से भाषा के परिमित वाक्यों के समुच्चय (ेमज) के ‘संरचनात्मक वर्णन‘ का नियमन करता है।
1. चॉम्सकी के प्रारंभिक परिमित स्थिति (पिदपजम ेजंजम), पदबंध संरचना और रचनांतरण व्याकरणों से अब तक प्रजनक व्याकरण के कई मॉडल प्रस्तावित किए जा चुके हैं, जैसे – ‘चाप – युग्म व्याकरण (।तब चंपत हतंउउंत)‘, ‘शब्द-प्रकार्य व्याकरण‘ और ‘सामान्यीकृत पदबंध संरचना व्याकरण‘।
सामान्य रूप से प्रजनक भाषाविज्ञान की तीन शाखाएं मानी जाती हैं – ‘प्रजनक स्वनिम-विज्ञान‘, ‘प्रजनक वाक्यविन्यास‘ एवं ‘प्रजनक अर्थविज्ञान‘ दे० न्यूमायर (1986 अध्याय 2-8)
प्रजनक अर्थविज्ञान में भाषा की ‘वाक्यविन्यासी संरचना‘ व्याकरण के आर्थी घटक पर आधारित होती है। वाक्य-विश्लेषण में यह व्याकरण वाक्य का आर्थी प्रतिरूपण करता है और एक ही स्तर पर सुगठित बाह्य संरचना के लिए सक्षम है। परवर्ती वाक्य-विन्यासी नियम केवल व्याख्यात्मक हैं।

question : what is generative ¼generate] generation½ in hindi define the term ?

answer : generative ¼generate] generation½ की हिंदी में डेफिनिशन अर्थात प्रजनक (प्रजनन) की परिभाषा ऊपर देखिये –