परसर्ग की परिभाषा क्या है post position in hindi definition meaning परसर्ग किसे कहते हैं ?

प्रश्न : परसर्ग को परिभाषित कीजिये ?

उत्तर : हिंदी में परसर्ग (post position) की परिभाषा निम्नलिखित है –

संज्ञा के बाद लगने वाली वह व्याकरणिक इकाई जो वाक्य में उस संज्ञा का क्रिया या अन्य संज्ञा के साथ संबंध निर्दिष्ट करती है । ‘राम का पुत्र‘ में का परसर्ग एक संज्ञा का संबंध दूसरी संज्ञा से निर्दिष्ट करता है ।
विभक्ति और परसर्ग के बीच अंतर यह है कि विभक्ति शब्दबंध के प्रत्येक घटक में जुड़ी होती है, जबकि परसर्ग केवल एक बार (अंतिम नियंत्रित शब्द के बाद) आता है । जैसे – ‘मेरे बड़े बेटे का घर‘ । यहाँ ‘मेरे‘, ‘बड़े‘, ‘बेटे‘ क्रमशः ‘मेरा‘ सर्वनाम, ‘बड़ा‘ विशेषण तथा ‘बेटा‘ संज्ञा के विकारी रूप हैं तथा ‘का‘ परसर्ग है।
हिंदी के ‘ने‘, ‘को‘, ‘से‘ आदि विभक्ति-चिह्न हैं, किंतु इन्हें भी विशिष्ट प्रकार के परप्रत्यय कहा जा सकता है ।
हिंदी में परसर्ग संज्ञा या सर्वनाम के बाद लगते हैं।

question : what is post position in hindi define the term ?

answer : post position की हिंदी में डेफिनिशन अर्थात परसर्ग की परिभाषा ऊपर देखिये –